Resume और CV में क्या अंतर है। जानिए सटीक तरीका आसान शब्दों में

अक्सर देखा जाता है कि ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो Resume और CV में क्या अंतर है। नही समझ पाते उसको एक जैसा मान लेते हैं हालांकि Resume और CV में बहुत बड़ा अंतर है वहीं देखे तो बहुत सारे लोगों को इसके बारे में पता होता है कि रिज्यूम और सीबी में क्या अंतर होता है और कुछ को नहीं,

मैं उन्हीं लोगों के लिए यह पोस्ट लिखा हूं जो जानना चाह रहा है कि Resume और CV, दोनों के बीच अंतर क्या है। इन दोनों के अंतर के बारे में जानना तभी आवश्यकता पड़ती है जब आप किसी कंपनी में जॉब लेने के लिए जाते हैं तभी आपको इसकी जरूरत पड़ती है क्योंकि कुछ कंपनियां ऐसे हैं।

जो रिज्यूम या सीवी का मांग करती है और तभी आप सोचते हैं कि रिज्यूम और सीबी क्या होता है। ऐसे में अगर आपके पास Resume या CV नहीं होगा तो जॉब पाना मुश्किल हो जाएगा। इसीलिए आपको जानना पड़ेगा की आखिरकार रिज्यूम और सीवी होता क्या है इन दोनों के बीच के अंतर क्या है

इनकी मांग कंपनियां क्यों करते हैं। रिज्यूम और सीवी में बुनियादी अंतर क्या है? तो आइए डिटेल में समझ लेते हैं की Resume और CV में क्या अंतर है तभी तो आप अपना रिज्यूम या सीवी बना पाएंगे। जो जानना आपके लिए बहुत जरूरी है तब आप किसी बड़ी कंपनियों में अपना रिज्यूम या सीवी दिखा सकते हैं जब उस कंपनी का HR आपसे Resume या CV का मांग करेगा।

Difference between resume and CV

Resume क्या होती हैं यहां समझिए

यहां मैं सबसे पहले आप को बता दूं कि Resume एक फ्रेंच शब्द है इसका अर्थ होता है “to sum up” इसका मतलब ये हुआ कि यह एक छोटा डॉक्यूमेंट होता है जिसमे 1 से 2 पेज में लिखा रहता है। तो हम कह सकते हैं की रिज्यूम एक ऐसा दस्तावेज है जिसमें आपका प्रोफेशनल कैरियर का डाटा संक्षेप में कुछ लिखी हुई होती है।

Resume और CV में क्या अंतर है। जानिए सटीक तरीका आसान शब्दों में

उस डॉक्यूमेंट का यूज आप तब करते हैं जब आप किसी मल्टीनेशनल कंपनी या किसी भी छोटी कंपनी जहां रिज्यूम की मांग होती है, उस में जॉब इंटरव्यू के लिए अप्लाई करते हैं।

किसी जॉब इंटरव्यू के लिए किन-किन बातों का ध्यान रखना है

सबसे पहले इसमें आप प्रोफेशनल करियर के बारे में जितना शॉर्ट में लिखेंगे उतना ही अच्छा माना जाएगा आप इसको ज्यादा लंबा नहीं खींच सकते इसमें एक्स्ट्रा डाटा तब यूज कर सकते हैं जब आपको लगे कि आपका रिज्यूम ओर भी अट्रैक्टिव हो जाएगा सिर्फ तभी यूज कर सकते हैं। हमेशा आप यह मान कर चलना की रिज्यूम में हमको सिर्फ वही लिखना है जिस जॉब इंटरव्यू के लिए अप्लाई किया है

उससे रिलेटेड इनफॉर्मेशन हो और आपका इंफॉर्मेशन उस HR तक पहुंच जाएं जिससे उसको आसानी से समझ में आ जाए। आप अपना रिज्यूम ध्यान पूर्वक बनाएं इसमें फालतू चीज ऐड मत करें इससे आपका इंफॉर्मेशन HR तक सही से नहीं पहुंच पाएगा और यही वह फर्स्ट स्टेज है जिससे आप एचआर को इंप्रेस कर सकते हैं और जॉब आसानी से पा सकते हैं

हमेशा यह ट्राई करने की कोशिश करें की आपका रिज्यूम एक पेज में ही खत्म हो जाए और आपको लगे कि इसमें आप अपना पूरा इंफॉर्मेशन नहीं दे पाए तो मैक्सिमम दो पेज ले सकते हैं उससे ज्यादा नहीं बस यही सब बात ध्यान में रखते हुए जॉब इंटरव्यू के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

CV क्या होती हैं यहां समझिए

यह एक लैटिन शब्द है CV का फुल फॉर्म है करिकुलम विटेज (curriculum vitae) इसका अर्थ होता है “the course of your life” यानी आपके लाइफ के बारे में पूरा डिटेल इंफॉर्मेशन, सरल भाषा में कहे तो CV में आपके करियर का जो जर्नी हैं उसको बताना होता है वो भी पूरा डिटेल में स्टेप बाय स्टेप के साथ चाहे वह आपका प्रोफेशनल करियर हो या एकेडमिक करियर दोनों के बारे में डिटेल इंफॉर्मेशन बताना होता है।

Resume और CV में क्या अंतर है। जानिए सटीक तरीका आसान शब्दों में

CV को कहां कहां यूज़ कर सकता हूं।

यह तो बातें तय है की Resume और CV दोनो अलग अलग चीज है तो इसका यूज भी अलग अलग किया जाएगा। सीवी में किसी का इंफॉर्मेशनपूरा पूरा डिटेल के साथ लिखा जाता है तो हम कह सकते हैं कि इसे हर जॉब प्रोफाइल में यूज नहीं कर सकते हैं। तो मैं आपको जानकारी के लिए बता दूं कि इसे केवल एकेडमिक जॉब के लिए तैयार किया जाता है

सीवी किसी इंस्टिट्यूट या यूनिवर्सिटी में स्टाफ पोजीशन, रिसर्च पोजिशन, फैलोशिप इत्यादि केवल इस तरह पोजीशन का अप्लाई करने के लिए ही इसे तैयार किया जाता है क्योंकि इस तरह की एकेडमिक जॉब पाने के लिए आपको फुल डिटेल के साथ इंफॉर्मेशन देना पड़ता है दूसरे शब्द मे कहे तो यहां आपको CV देना परता है।

जाहिर सी बात है अगर आप फुल डिटेल में इंफॉर्मेशन डॉक्यूमेंट बनाओगे तो उसकी लेंथ बहुत बड़ा हो जाएगा। इसमें आपको टेंशन लेने की कोई बात नहीं है CV आप मिनिमम 2 से 3 पेज में लिख सकते हैं इसमें मैक्सिमम की कोई लिमिट नहीं है आप इसमें 10 से ज्यादा पेज में भी लिख सकते हैं अगर जरूरत पड़ता है तो

अंतिम शब्द

मुझे उम्मीद है की मेरे द्वारा बताए गए इंफॉर्मेशन CV और Resume में क्या अंतर है आपको अच्छा लगा होगा अगर अच्छा लगा होगा तो प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं ताकि हम भी समझ पाए कि आपको कितना समझ में आ रहा है और इसे अपने दोस्तों के साथ भी सोशल मीडिया पर शेयर करें अगर आप जानना चाहते हैं की Resume और CV कैसे बनाएं या कैसे बनाया जाता है तो भी कमेंट करें ताकि मैं आपके लिए इस पर भी एक पोस्ट लिखूंगा तब आप भी आसानी से रिज्यूम या सीबी लिख सकते हैं या बना सकते हैं। धन्यवाद?

Manish Kumar
Manish Kumar

नमस्कार दोस्तों, मैं मनीष कुमार Puredunia.com वेबसाइट का फाउंडर हूं। यहां मैं आपलोगो को नॉलेज से रिलेटेड जैसे की जनरल जरकारी, ट्रेंडिंड टॉपिक, कैरियर, सरकारी योजना, हाउ टू, इत्यादि का सही-सही जानकारी उपलब्ध करवाता हूं। अगर हमारे बारे में ओर कुछ जानना चाहते हैं तो About us page पर जाए। धन्यवाद!

Articles: 393

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *